एलन मस्क के ट्विटर खरीदने के पीछे क्या वजह थी, जानिए आखिर सबसे अमीर व्यक्ति होते हुए भी क्यों खरीदा ट्विटर

Elon Musk Twitter Deal: विश्व के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क जिन्होंने फिलहाल ही में ट्विटर को खरीदने का सौदा पक्का किया है और माना जा रहा है कि अगर ट्विटर के शेयराधिकार एंव अमेरिकी एजेंसियों द्वारा अनुमोदन कर दिया जायेगा तो यह प्रक्रिया लगभग 6 माह में समाप्त हो जाएगी। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि इलेक्ट्रॉनिक के व्यापारी एलन मस्क को ऐसी क्या जरूरत आन पड़ी कि उन्होंने ट्विटर का सौदा पक्का किया है

एलेन मस्क की घोषणा के मुताबित ट्विटर यूजर्स को हर महीने $8 यानी ₹660 हर महीने चुकाने होंगे। एलन मस्क ने यह भी बताया कि जो भी इस कीमत चुकाने वाले व्यक्तियों को विशेष सुविधा के तौर पर रिप्लाई सर्च मेनशन में प्राथमिकता दी जायेगी और लंबे ऑडियो व वीडियो की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। टेबल बाईपास के जरिए पब्लिक को ट्विटर के साथ काम करने का मौका मिलेगा।

जानिए कैसे हुआ एलन मस्क का मार्केट में दबदबा

ईलोन रीव मस्क इनका पूरा नाम हैं इनका जन्म 28 जुन 1971 में अमेरिका में हुआ। Elon Musk spaceX के संस्थापक, सीईओ और मुख्य डिजाइनर है। टेस्ला कंपनी के सह-संस्थापक, सीईओ और उत्पाद के वास्तुकार; ओपनएआई के सह-अध्यक्ष; न्यूरालिंक के संस्थापक सीईओ। द बोरिंग कंपनी के संस्थापक और ट्विटर इंक फोर्ब्स के अनुसार इस समय मस्क की संपत्ति 26,460 करोड़ अमेरिकी डालर से भी अधिक है। एलन मस्क बड़े ही बुद्धिमान व्यक्ति है जो इंटरनेट मीडिया मंच की प्रक्रियागत और नीतिगत खामियों की तरफ प्राय: संकेत करते है। एलन मस्क इसी कारण से ट्विटर में बहुत ही ज्यादा बदलाव करने वाले हैं वह टूट चुकी जितने भी खामियां हैं उन्हें दूर करने की पूरी कोशिश करेंगे। एलन मस्क ट्वीटर को अपने हिंसाब से चलाना चाहते हैं।

एलन मस्क के अनुसार टि्वटर एक ऐसा सार्वजनिक मंच है जिसे सभी यूजर्स यूज कर सकते हैं । ट्विटर एक सार्वजनिक कंपनी है और मस्क उसे प्राइवेट कंपनी में तब्दील करना चाहते हैं माना जा रहा है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्विटर पर प्रतिबंध हट सकता है हालांकि ट्रंप इनकार कर चूके है फिलहाल अमेरिका के राष्ट्रपति भारत द्वारा कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है ।

इंटरनेट के मंच पर ट्विटर की उपयोगिता बढ़ाएंगे एलन मस्क

विश्व स्तर पर बीते हुए समय में चिंता सामने आई है इंटरनेट मीडिया मंच द्वारा चुनाव को प्रभावित करने की पूरी कोशिश की जा सकती है। मस्क ने ट्वीट कर कहा था कि अपने उपयोगकर्ताओं के ट्वीट प्रतिबंधित करके ट्विटर ने लोकतंत्र को कमतर आंका है।वर्तमान समय में टि्वटर के सीईओ भारतवंशी अग्रवाल है। ट्विटर के संस्थापक व बोर्ड सदस्य जैक डोर्सी ने नवंबर 2021 में सीईओ बनाने की मंजूरी दी थी। अग्रवाल को लेकर महत्वपूर्ण बयान दिया हैै जिसमें उन्होंने कहा कि ट्विटर को अधिकतम विश्वसनीय और समावेशी मंच बनाने का एलन का लक्ष्य है और यही पराग की भी सोच है। इसी वजह से मैंने पराग अग्रवाल को सीईओचुना था लेकिन मस्क ने कहा है कि ट्विटर के प्रबंध में कुछ खामियाँ है जिसे हम सुधारेंगे।

मस्क का कहना है कि एल्गोरिथ्म में वह बहुत ही महत्वपूर्ण बदलाव करना चाहते हैं। यह एल्गोरिद्म ओपन सोर्स होगा ताकि विश्वास बढ़े, स्पैम बोट कम हों और सभी इंसानों का प्रमाणीकरण किया जा सके। कंपनियों के लिए इंटरनेट मीडिया विशाल बाजार है

Spread the love

Lakhan singh

Professional article writer

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *