ट्विटर की नई प्लानिंग पर चलने लगे हैं इंस्टाग्राम और फेसबुक, जानिए सोशल मीडिया ऐप पर हो सकते हैं यह बदलाव

फेसबुक और इंस्टाग्राम अपनी सेवाओं पर लगाने जा रहे है चार्ज

ट्विटर ने हाल ही में सोशल मीडिया एप्स की एक नई रणनीति बनाई है जिसके बाद से मेटा के सभी सोशल मीडिया ऐप में हलचल हुई है। दरअसल ट्विटर के नए मालिक एलन मस्क ने पूरी तरीके से एडवर्टाइजमेंट पर डिपेंड न होते हुए ब्लूटिक और विभिन्न पैड सेवाएं चालू की है। ट्विटर के इस कदम पर कई विशेषज्ञ आपत्ति जता रहे हैं लेकिन अभी तक अपनी प्रतिक्रिया न देने वाले फेसबुक और इंस्टाग्राम इस रणनीति को अपनाने के लिए तत्पर खड़े हैं। सूत्रों के मुताबिक फेसबुक और इंस्टाग्राम भी अपनी ब्लूटिक सेवाओं के लिए यूजर्स से चार्ज ले सकते हैं। जहां फेसबुक में सन 2019 के बाद यूजर्स के पेज और अकाउंट ग्रोथ पर पैसा देना शुरू किया था। जिसके बाद फेसबुक पर OTT और अन्य मनोरंजक वीडियोस के चलते एक बड़ा यूजर बेस शिफ्ट हो गया था।

फेसबुक ने लोगों को कई सालों तक फ्री में वीडियोस दिखाने के बाद एकदम से डिपेंडेंट कर दिया है जिसके बाद मेटा पैड सुविधाओं के लिए मीटिंग कर सकता है। मेटा के ही इंस्टाग्राम पर हाल ही मैं अकाउंट ग्रोथ अलग करेंसी के जरिए पैसा मिलना शुरू हुआ है जिसके बाद से इंस्टाग्राम को भी पैड सब्सक्रिप्शन के लिए आगे बढ़ता देखा जा सकता है। हालाजी मेहता की तरफ से कोई ऑफिशियल सूचना नहीं आई है लेकिन सूत्रों के मुताबिक जल्द ही इंस्टाग्राम और फेसबुक पर पैड सब्सक्रिप्शन शुरू किया जाएगा।

ट्विटर से ज्यादा इंस्टाग्राम और फेसबुक पर होती है पैड सब्सक्रिप्शन से कमाई

ट्विटर अपने साथ केवल प्रोफेशनल यूजर बेस को लेकर ही चलता है जिससे डेली बेसिस पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूज करने वाले लोग इंस्टाग्राम, फेसबुक और व्हाट्सएप जैसी अन्य सेवाओं पर ज्यादा ध्यान देते हैं। यदि मेटा पैड सब्सक्रिप्शन निकालता है तो उसे एक बड़े यूजर बेस की कमाई हासिल हो जाएगी क्योंकि इंस्टाग्राम फेसबुक और व्हाट्सएप लोगों को केवल इन्हीं ऐप पर डिपेंडेबल बनाती हैं। हालांकि भारत में अन्य देशों की तुलना में पैड सब्सक्रिप्शन लेने वालों की संख्या काफी कम है। लेकिन इन पॉपुलर एप्स से हटकर भारतीय लोग किसी अन्य सोशल मीडिया पर शिफ्ट नहीं होना चाहते हैं।

ट्विटर के मुकाबले मेटा के पास अत्यधिक ब्लूटिक और यूजर बेस का फायदा है। पहले एलन मस्क ट्विटर पर पैड सब्सक्रिप्शन की सेवा लेकर अनुभव आ जाएंगे जिसके बाद मेटा ऑफिशियल दौर पर आकर नई घोषणाएं कर सकता है। Instagram हाल ही में reels के लिए भारत और अन्य देशों में काफी प्रसिद्ध हैं जिसके चलते अकाउंट ग्रो की सुविधाएं लाई गई। बात यही नहीं रहती है क्योंकि आखिर कब तक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एडवर्टाइजमेंट के भरोसे रहेंगे? साधारण सी भाषा में ट्विटर की नई पहल के बाद मेटा भी ब्लू टिक और अन्य सेवाओं पर चार्ज लगा सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक पता चला की ट्विटर हर साल एडवर्टाइजमेंट के टोटल टर्नओवर को ब्लूटीक और अन्य पैड सब्सक्रिप्शन से मात्र 6 या 7 महीने में पूरा कर सकता है। इसी के चलते आगे की राय में अन्य प्लेटफार्म इस बारे में सोचते हुए यूजर्स को सेवाओं के लिए चार्ज लगा सकते हैं।

Spread the love

Leave a Comment